English

व्‍यवसाय

पारंपरिक उत्‍पादक

टाटा पावर बिजली उत्पादन की लागत के मामले में अनूठे फायदे का आनंद उठाती है। कंपनी ने यह लाभ अपने अत्याधुनिक ताप और जल विद्युत संयंत्रों को नियमित रूप से उन्नत करके हासिल किया है। यह कंपनी को अपने ग्राहकों को प्रतिस्पर्धी टैरिफ पर बिजली आपूर्ति करने में सक्षम बनाता है।

टाटा पावर व्यापारिक शहर के रूप में मुंबई की विस्तार लेती विरासत के साथ एक सदी से ज्यादा समय से जुड़ा हुआ है।

मुंबई से बाहर, कंपनी की झारखंड, पश्चिम बंगाल, गुजरात और कर्नाटक में उत्पादन क्षमताएं हैं।

कंपनी लोगों तक गुणवत्तापूर्ण बिजली पहुंचाने के लिए सफल सार्वजनिक-निजी भागीदारी पर भी ध्यान केंद्रित करती है। इसमें पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के साथ पीपीपी, पॉवरलिंक्स ट्रांसमिशन की स्थापना शामिल है, जो भूटान स्थित ताला जल विद्युत संयंत्र से दिल्ली तक बिजली लाने में मदद करता है।

झारखंड में 1050 मेगावाट की मेगा पावर परियोजना के उत्पादन और विकास के लिए हमने दामोदर वैली कॉर्पोरेशन (दामोदर घाटी निगम) के साथ एक पीपीपी भी किया है।

पारंपरिक उत्‍पादक