English

संयंत्र एवं परियोजनाएं

तकनीकी और हरित पहलें

तकनीकी और हरित पहलें

हरित पट्टी का विकास- एक ज्यादा हरी-भरी दुनिया की ओर

एक ज्यादा हरी-भरी दुनिया की दिशा में आगे बढ़ते हुए, एमपीएल ने अपने परिसर और उसके आस-पास के क्षेत्रों में हरित पट्टी के विकास के लिए वृक्षारोपण की शुरुआत की है। इससे क्षेत्र की सुंदरता बढ़ी है और निम्न-लिखित फायदे हुए हैं -

  • हरित पट्टी प्रदूषकों के फाइटोरिमेडिएशन (यह उस तकनीकी को इंगित करता है, जिसमें प्रदूषण पर नियंत्रण करने में सजीव पौधों का उपयोग किया जाता है) के माध्यम के रूप में कार्य करती है और आस-पास के क्षेत्र का सौंदर्य भी बढ़ाती है।
  • वायु की गुणवत्ता बढ़ाती है।
  • प्राकृतिक आवास और जैव-विविधता दोनों में वृद्धि करती है।
  • मृदा संरक्षण, अपक्षय नियंत्रण और वायुरोधी की भांति कार्य करती है।
लक्षित सड़क पर वृक्षारोपण
लक्षित सड़क पर सीएचपी की दिशा में वृक्षारोपण
स्टैकर क्षेत्र के नजदीक वृक्षारोपण
प्रवेश करने के क्षेत्र में वृक्षारोपण

राख के कुंड से उड़ने वाली धूल पर काबू पाने के लिए व्यर्थ घास का उपयोग

पर्यावरणीय चिंताओं को न्यूनतम बनाने के लिए कचरे का उपयोग हमेशा से ध्यान का मुख्य क्षेत्र रहा है। प्राकृतिक तौर पर बढ़ी हुई घास को काटकर घर पर इकट्ठा करना और उस सूखी घास को नियंत्रित ढंग से जला देना रोजमर्रा की एक गतिविधि मानी जाती है। हमने कटी हुई घास को राख के कुंड में राख की सबसे ऊंची सतह पर कुंड की भीतरी सतह से तकरीबन 15 मीटर की चौड़ाई वाली चटाई के तौर पर बिछाने के नवाचारी विचार का विकास किया।

इससे राख के कणों को हवा से बचाते हुए ढके हुए हिस्से में बनाए रखने में मदद मिली। इस पहल ने तकरीबन 15000 वर्ग मीटर के क्षेत्र को अपने भीतर समेटा।

फायदे:

  • आग लगने के दौरान फैलने वाली कॉर्बन डाई ऑक्साइड के उत्सर्जन में कमी आई।
  • धूल को उड़ने से बचाने के लिए जरूरी पानी के उपभोग में कमी।
  • गतिमान टैंकों/पानी का छिड़काव करने वाले उपकरणों से धूल को उड़ने से रोकने के दौरान जरूरी ऊर्जा की खपत में कमी लाता है।
  • आस-पास के क्षेत्रों की वायु की गुणवत्ता को बेहतर बनाता है।
फैलने वाली धूल पर काबू पाने के लिए राख के कुंड में घास को चटाई की तरह बिछाना।

पुनर्चक्रण और पुनर्पयोग- हरित सूत्र

कोयले के यार्ड के चारों ओर के क्षेत्र में कोयले की राख में कमी लाने के लिए ताजे पानी के बजाय व्यर्थ पानी का पुनर्चक्रण और पुनर्पयोग करते हुए मैथन सीएचपी टीम 240 किलोलीटर तक स्वच्छ पानी को बचाने में समर्थ हो पाई है। इस बचे हुए स्वच्छ पानी का इस्तेमाल मानवीय उपभोग और अन्य बेहतर उद्देश्यों के लिए हो सकता है।

धूल को दबाने के लिए व्यर्थ पानी का पुनर्चक्रण
धूल को दबाने के लिए व्यर्थ पानी का पुनर्चक्रण

पर्यावरण जागरूकता अभियान :

विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन के जरिये एमपीएल कर्मचारियों, उनके परिवारों, ठेकेदार कर्मचारियों और नजदीकी समुदायों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता फैलाता है।

हर वर्ष ‘पर्यावरण दिवस’ मनाया जाता है। इस अवसर पर वृक्षारोपण, स्लोगन प्रतियोगिता और क्विज प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं। कर्मचारियों के परिवार खासकर बच्चों को इन कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए उत्साहित किया जाता है।

स्कूल के विद्यार्थियों के बीच एक प्राथमिक संवेदीकरण कार्यक्रम के जरिये ‘क्लब एनर्जी’ की शुरुआत की गई है। इस कार्यक्रम में कक्षा में प्रदर्शित की जाने वाली शैक्षिक फिल्मों के जरिये संवादात्मक सेशन शामिल किए जाते हैं। ये फिल्में और अन्य प्रस्तुतियां विषय को गहराई से समझाने और विचार व व्यवहार के एकीकरण में सहायक हैं। स्कूली बच्चों को कुछ बुनियादी बातें समझने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है, मसलन, बिजली का बिल देखना और घर के सदस्यों की सहभागिता, रिकॉर्डिंग व अपने चारों ओर अपनाए गए प्रभावकारी व्यवहार को साझा करने के साथ ऊर्जा ऑडिट, ऊर्जा कैल्कुलेटर और घर पर विद्युत उपकरणों के उपयोग का अधिकतमीकरण करके घर, स्कूल और समाज में बिजली की बर्बादी को रोकने के कुछ बुनियादी उपाय।

विश्व पर्यावरण दिवस का जश्न
नजदीकी ग्रामीण स्कूल में चित्रकला प्रतियोगिता
नजदीकी ग्रामीण स्कूल में चित्रकला प्रतियोगिता
कर्मचारियों के मध्य क्विज प्रतियोगिता
कर्मचारियों के बीच स्लोगन प्रतियोगिता
कर्मचारियों के बच्चों में चित्रकला प्रतियोगिता
कर्मचारियों के बच्चों में चित्रकला प्रतियोगिता
क्लब एनर्जी कार्यक्रम के जरिये स्कूली विद्यार्थियों में जागरूकता का प्रसार
क्लब एनर्जी कार्यक्रम के जरिये स्कूली विद्यार्थियों में जागरूकता का प्रसार