English

स्थायित्वपूर्णता

महसीर का संरक्षण

माहसीर का संरक्षण

जैव विविधता का संरक्षण टाटा पावर के लिए नया नहीं है। दरअसल, कंपनी का प्रमुख जैव विविधता संरक्षण कार्यक्रम, माहसीर संरक्षण परियोजना की शुरुआत चार दशक से ज्यादा समय पहले हुई थी।

माहसीर ताजे पानी की मछलियों का एक समूह है, जिनकी ज्यादातर तादाद पर अस्तित्व का संकट लहरा रहा है। ये भारतीय नदियों के महत्वपूर्ण सांस्कृतिक और जैविक संकेत हैं, जो आजीविका और जैव विविधता संरक्षण को एक-दूसरे से जोड़ते हैं। चार दशक से भी ज्यादा समय से टाटा पावर इस महान मछली को बचाने की मुहिम में लगा हुआ है। हमारा कार्यक्रम मुख्यत: तीन क्षेत्रों में काम करता है :

  • कैप्टिव ब्रीडिंग
  • पारिस्थितिकी
  • जागरूकता और संवेदनशीलता
  • जागरूकता व संवेदनशीलता

    स्वयंसेवा के जोश के जरिये टाटा पावर अपने कर्मचारियों के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। इसमें स्वयंसेवकों को वनों से परिचित कराया जाता है और संरक्षण की जरूरत को समझने में मदद की जाती है।

अब माहसीर को आपकी जरूरत है

चार दशक से ज्यादा समय से टाटा पावर इस प्रजाति के संरक्षण के लिए प्रयास कर रहा है। दुर्भाग्य से यह अभी भी संकटग्रस्त प्रजाति बनी हुई है और धीरे-धीरे विलुप्ति की कगार पर पहुंच रही है। ‘एक्ट फॉर माहसीर’ के जरिये कंपनी अपने सभी हितधारकों से यह अपील करना चाहती है कि वे इस अति प्रशंसनीय और उपयोगी प्रजाति के संरक्षण की दिशा में अपना योगदान दें।

हम सभी को आमंत्रित करते हैं कि वे इस संकटग्रस्त प्रजाति को बचाने के लिए हमारी मदद करें।

आप माहसीर को बचा सकते हैं! अभी कदम बढ़ाएं!

माहसीर के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्‍त करें

मछली की प्रजाति से मिलें

टोर द माहसीर

Tटोर एक गोल्डन माहसीर है, जो वॉल्वहान, लोनावला में स्थित टाटा पावर प्रजनन केंद्र में अंडे निषेचित करती है। छोटी-सी यह माहसीर बेहद स्मार्ट होती है, जो इधर- उधर घूमती है और दोस्त बनाना पसंद करती है। यह अपने दोस्तों व परिवार में चुनिंदा होती हैं, जो वन की परिस्थतियों में पनप पाती हैं। यह सीरीज अपनी यात्रा वनों से शुरू करती है, जहां नए लोगों, जानवरों और मछलियों से मुलाकात होती है।

पहला अध्याय

दूसरा अध्याय

तीसरा अध्याय

चौथा अध्याय

5वां अध्याय

6ठा अध्याय

7वां अध्याय

8वां अध्याय

9वां अध्याय

10वां अध्याय

11वां अध्याय