English

स्थायित्वपूर्णता

क्लब एनर्जी

टाटा पावर क्लब एनर्जी (टीपीसीई) एक ऊर्जा एवं संसाधन संरक्षण क्लब है, जो देश में ऊर्जा संकट और प्राकृतिक संसाधनों की कमी के लिए व्‍यावहारिक बोध कराने पर केंद्रित है।

ऊर्जा की बढ़ती मांग के साथ, प्रभावी प्रबंधन और उसका संरक्षण समय की मांग बन गई है। स्कूल और स्कूली बच्चे इस महत्वपूर्ण आवश्यकता पर पहल कर सकते हैं, इसको ध्यान में रख कर इस तत्काल आवश्यकता पर विचार करते हुए, टाटा पावर ने "टाटा पावर क्लब एनर्जी" की 2007 में शुरुआत की, ताकि ऊर्जा के कुशल उपयोग को बढ़ावा दिया जा सके और जलवायु परिवर्तन के मुद्दों पर समाज को शिक्षित किया जा सके।

वर्ष 2018 में, क्‍लब एनर्जी बच्चों को "प्लास्टिक को न कहने" के लिए आग्रह और पारिस्थितिकी तंत्र को बचाने में मदद करने की अनूठी पहल कर रहा है।

हमारी 10 साल की यात्रा -
  • 2017

    हमने 533 से अधिक स्कूलों में पहुंच बनाते हुए 10 साल पूरे किए। 19 मिलियन से अधिक नागरिकों को इस विषय पर संवेदनशील बनाया और 25 मिलियन से अधिक यूनिट बचाई, हमारे कुल 2, 55,783 एनर्जी चैंपियंस और 2,98,468 एनर्जी एंबेसडर हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से 27346 नागरिकों को जागरूक किया गया।

  • 2016

    15.84 मिलियन से अधिक नागरिकों को इस विषय पर संवेदनशील बनाया और लगभग 21 मिलियन यूनिट बचाई। सोशल मीडिया के माध्यम से 26906 नागरिकों को जागरूक किया गया।

  • 2015

    12.8 मिलियन से अधिक नागरिकों को इस विषय पर संवेदनशील बनाया और लगभग 17.26 मिलियन यूनिट की बचत की। सोशल मीडिया के माध्यम से 20348 नागरिकों को जागरूक किया गया।

  • 2014

    7 मिलियन से अधिक नागरिकों को जागरूक किया और स्थापना के बाद से लगभग 11.2 मिलियन यूनिट की बचत की। 5186 नागरिकों ने सोशल मीडिया के माध्यम से संवेदनशील बनाया।

  • 2013

    1.7 लाख नागरिक प्रभावित हुए और 2.8 मिलियन यूनिट की बचत हुई। सोशल मीडिया के माध्यम से 3109 नागरिकों को जागरूक किया।

  • 2012

    1.6 लाख नागरिक जागरूक हुए और 2.7 मिलियन यूनिट की बचत हुई।

  • 2011

    1.5 लाख नागरिक जागरूक हुए और 2.7 मिलियन यूनिट की बचत हुई।

  • 2010

    250 स्कूलों में संरक्षण गतिविधियों के माध्यम से 2.4 मिलियन यूनिट की बचत हुई।

  • 2009

    टीपीसीई एक राष्ट्रीय आंदोलन बन गया और मुंबई, दिल्ली, पुणे, अहमदाबाद, बेंगलुरु, कोलकाता, बेलगाम, जमशेदपुर और लोनावला के 250 से अधिक स्कूलों में पहुंचे ।

  • 2008

    28 स्कूलों तक पहुंच बनाई गई और 26,922 नागरिकों में इस विषय के प्रति संवेदना जगाई।

  • 2007

    12 स्कूलों के साथ शुरुआत की और 6000 छात्रों को जागरूक किया गया।

आज, एनर्जी क्लब के पास अब तक -

2,92,971 एनर्जी चैंपियंस, 3,39,297 एनर्जी एंबेसडर और 2017 आत्मनिर्भर मिनी एनर्जी क्लब हैं।

एनर्जी क्लब ने देश भर में 533 से अधिक स्कूलों तक पहुंच बनाई है, 19.34 मिलियन नागरिकों को जागरूक किया और 25 मिलियन से अधिक ऊर्जा यूनिटों की बचत की। अब तक 2,92,971 से अधिक एनर्जी चैंपियंस, 3,39,297 एनर्जी एंबेसडर और 2017 आत्मनिर्भर मिनी एनर्जी क्लब हैं।

एनर्जी क्लब ने प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के महत्व पर ध्यान केंद्रित करते हुए 2012-13 में सभी स्कूलों में अपने संसाधन संरक्षण मॉड्यूल को लॉन्च किया। अपने सभी सदस्यों के द्वारा उत्साहित प्रतिक्रिया मिलने के कारण, मॉड्यूल और विकसित हुआ और यह निम्नलिखित स्तंभों पर आधारित है:

  • एनर्जी क्लब ने प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के महत्व पर ध्यान केंद्रित करते हुए 2012-13 में सभी स्कूलों में अपने संसाधन संरक्षण मॉड्यूल को लॉन्च किया। अपने सभी सदस्यों के द्वारा उत्साहित प्रतिक्रिया मिलने के कारण, मॉड्यूल और विकसित हुआ और यह निम्नलिखित स्तंभों पर आधारित है:
  • ईंधन संरक्षण
  • जल प्रबंधन
  • अपशिष्‍ट प्रबंधन
  • वनीकरण
  • ऊर्जा सरंक्षण
  • आपदा प्रबंधन
  • नैतिक और नागरिक मूल्य संरक्षण
  • प्लास्टिक को न कहो
इस मॉड्यूल के प्रयासों को ध्यान में रखते हुए, 2018 में, बिजली, ईंधन और जल संरक्षण, अपशिष्ट प्रबंधन, वनीकरण, और आपदा प्रबंधन के साथ-साथ, हमारा ध्‍यान 'प्लास्टिक को न कहो' पर होगा।

क्लब एनर्जी की परियोजना एक 4ई दृष्टिकोण का पालन करती है

क्लब की गतिविधियां

टीपीसीई में साल भर हम क्लब के सदस्यों और समुदाय के बीच बिजली के विवेकपूर्ण उपयोग की वकालत करने के लिए ऐसी प्रतियोगिताओं और इवेंट्स का आयोजन करते हैं जिससे क्लब के सदस्यों की रुचि, शिक्षा और जागरूकता बढ़े।

आयोजन